जीवन की स्थिरता के लिए प्राकृतिक , सात्त्विक व सहज प्राप्त अन्न  भोजन सर्वश्रेष्ठ है 

 शरीर में समता व प्रसन्नता लाने के लिए समुचित रूप में जल का सेवन करना चाहिए

 शरीर में दृढ़ता व स्फूर्ति लाने के लिए शारीरिक व्यायाम सर्वश्रेष्ठ उपाय है

 समय पर सात्त्विक व संतुलित भोजन करना आरोग्य का सबसे बड़ा मंत्र है

पाचन शक्ति के अनुसार भोजन करने से जठराग्नि की वृद्धि होती है