रोज एक मुट्ठी अखरोट खाएं और शुक्रणुओं की संख्या बढ़ाएं।

शुक्राणु गर्भधारण के लिए बहुत जरुरी होते है इनके बिना एक महिला माँ नहीं बन सकती है।

अखरोट एकमात्र मेवा है जोकि पौधा आधारित ओमेगा - ३ फैटी एसिड अल्फ़ा लनोमेलिक एसिड का एक बेहतरीन स्रोत है। 

अखरोट में एंटी एक्सओक्सीडेंट व कई माइक्रो-नूरट्रोशियंट भी होते है। 

भोजन में अखरोट जोड़ेने पर शुक्राणु में सुधार होता है उनकी संख्या बढ़ती है। 

शुक्राणुओं को होने वाले  फ्री-रेडिकल्स से भी बचाते है है अखरोट।  

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए आप 70 से 75 ग्राम अखरोट खा सकते हो डेली। 

अखरोट का उपयोग करने से शुक्राणुओं के लिए अनुकूल हार्मोन्स  को रेगुलेट और संतुलित रखने में भी हेल्प मिलती है

अखरोट का सेवन करने  से पुरुषों की प्रजनन क्षमता में भी बहुत सुधार होता है।

आपको अखरोट को रात में 6 से 7 घंटे भिगो के रखने है और मॉर्निंग में खा लेना है